2020's Easy Money Making Strategies - Register now!

Please follow and like us:

Shani Jayanti date puja vidhi 2021 – हिन्दुओं में शनि जयंती की विशेष मान्यता है, जिस वजह से हर साल ज्येष्ठ माह की अमावस्या को शनि जयंती के रूप में मनाया जाता है। जानकारों के अनुसार इस दिन भगवान शनिदेव का जन्म हुआ था​ जिस वजह से इस दिन को शनि जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस बार शनि जयंती 10 जून 2021 को मनाई जाएगी। आज हम आपको इस दिन से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आपके शनि से जुड़े कई विकार दूर होंगे।

shani jayanti date puja vidhi 2020

शनि जयंती क्यों मनाई जाती है? – shani jayanti 2021 puja tips for how to worship – Shani Jayanti date puja vidhi 2021

  • शनिदेव, भगवान सूर्य तथा छाया (संवर्णा) के नो पुत्रों में से एक हैं। शनिदेव का विवाह चित्ररथ की कन्या से हुआ जो गंधर्व की पुत्री थी। उनकी पत्नी स्वभाव में उग्र थी।
  • एक बार भगवान कृष्ण की भक्ति में लीन शनिदेव के पास उनकी पत्नी संतान सुख की चाह से उनके पास प्रणय संबंध बनाने पहुंची। भक्ति में लीन होने के कारण उनका ध्यान अपनी पत्नी पर नही गया, जिस वजह से उनकी पत्नी ने गुस्सा होकर शनिदेव को श्राप दे दिया।

Must read- जानिए शनि देव को प्रसन्न करने के उपाय

  • जिसके बाद शनिदेव की नज़र जिस भी चीज़ पर पड़ी, वह नाश हो गई। तब से शनि की दृष्टि में यह दोष हो गया।
  • तब से शनि के दोष को दूर करने के लिए श​निदेव की पूजा की जाती है जिसे शनि जयंती के नाम से जाना जाता है।

कैसे करें शनि देव की पूजा – shani jayanti 2021 puja tips for how to worship – Shani Jayanti date puja vidhi 2021

  • सबसे पहले शनिदेव के इष्ट भगवान शिव का ‘ऊँ नम: शिवाय’ बोलते हुए गंगाजल, कच्चा दूध और काले तिल से अभिषेक करें। शिवलिंग का भी अभिषेक करें। शिव जी पर भांग, धतूरा चढ़ाएं।
  • अब शनिदेव की पूजा शुरू करें। सबसे पहले शनिदेव का सरसों के तेल से अभिषेक करें।
  • ऊँ शं शनैश्चराय नम:” का जप करते रहें ।
  • सरसों के तेल का दीपक जलाएं और कस्तूरी या चन्दन की धूप अर्पित करें। इस बात का ध्यान रखें कि यह दीया शनि मूर्ती के​ ठीक सामने ही रखा हो।

Must read- क्या होती है शनि की साढ़े साती, जानें इसके उपाय और लक्षण

  • शनि मंत्र के जाप के बाद शनि चालीसा का पाठ करें।
  • अब शनिदेव की आरती करें।  इसके बिना यह पूजा अधूरी मानी जाती है।
  • इस दिन काले रंग की चीज़ों जैसे काले रंग का कपड़ा, छाता, लोहा, जूता, कंबल आदि चीज़ों को अपने दानपुण्य में शामिल करें।

शनि के वैदिक मंत्र का उच्चारण करें
नीलांजन समाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम्
छायामार्तण्ड संभूतम् तम नमामि शनैश्चरम्॥

स्त्रोत्र का पाठ करें
नमस्ते कोण संस्थाय पिंगलाय नमोऽस्तुते।
नमस्ते बभ्रुरुपाय कृष्णाय नमोऽस्तुते॥
नमस्ते रौद्रदेहाय नमस्ते चांतकायच।
नमस्ते यमसंज्ञाय नमस्ते सौरये विभो॥
नमस्ते मंदसंज्ञाय शनैश्चर नमोऽस्तुते।
प्रसादं कुरू देवेश दीनस्य प्रणतस्य च॥

शाम को पीपल के वृक्ष के नीचे तिल के तेल का दीपक जलाएं। शनिदेव से  प्रार्थना करें कि सभी समस्याएं दूर हों और बुरे समय से पीछा छूट जाए। इसके बाद पीपल की सात परिक्रमा करें।

शनि देव की पूजा के लाभ – shani jayanti 2021 puja tips for how to worship – Shani Jayanti date puja vidhi 2021

  • शनि जयंती के दिन शनिदेव की पूजा करने से कारखाना, लोहे से संबद्ध उद्योग, ट्रेवल, ट्रक, ट्रांसपोर्ट, तेल, पे‍ट्रोलियम, मेडिकल, प्रेस, कोर्ट-कचहरी से जुड़े लोगों के रूके हुए काम बन जाएंगे।
  • अगर आपकी राशि में शनि का प्रकोप या अढैया है तो आपको शनिदेव की पूजा ज़रूर करनी चाहिए।
  • वाणिज्य और कारोबार से जुड़े लोगों को भी शनिदेव की पूजा करनी चाहिए, जिससे घाटे व परेशानी में चल रहे उनके व्यापार को फायदा मिलेगा।
  • कैंसर, एड्स, कुष्ठरोग, किडनी, लकवा, हृदयरोग, मधुमेह, खाज-खुजली आदि रोग से ग्रस्त पीड़ितों को शनिदेव की पूजा करने से लाभ मिलता है।

शनि जयंती शुभ मुहूर्त

  • शनि जयंती तिथि – 10 जून 2021
  • अमावस्या तिथि प्रारम्भ – जून 09, 2021 को 13:57 बजे
  • अमावस्या तिथि समाप्त – जून 10, 2021 को 16:22 बजे

Must read-  घर में सुख शांति के लिए करें शनि चालीसा का पाठ

Shani Jayanti date puja vidhiजैसी ख़बरों के लिए हमारे फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर हमें फ़ॉलो करें और हमारे वीडियो के बेस्ट कलेक्शन को देखने के लिए, YouTube पर हमें फॉलो करें।

Source link

2020's Easy Money Making Strategies - Register now!